सपनों की बम्पर सेल

सपनों की बम्पर सेल

वैसे तो अपन को सपने बहुत कम आते हैं। सोते हैं तो घोड़े, गधे,कुत्ते, बिल्ली, खरगोश सब बेंच-बांच कर। सोने में ही इत्ता बिजी रहते हैं कि सपने को लिफ़्ट ही नहीं देते। पता नहीं कोई सपना आता भी होगा तो बोर होकर फ़ूट लेता होगा! ये तो सो रहा है इसके पास क्या बरबाद […]

Full Story »
किसकी हवा चल रही है?

किसकी हवा चल रही है?

आज सुबह जरा आराम से उठे। वोटिंग हो रही है जबलपुर में। अपना वोट कानपुर में हैं। इसलिए यहाँ निश्चिन्त सोते रहे। वहां होते तो शायद अब तक उंगली की नीली स्याही दिखाते हुए फ़ेसबुक पर फोटो सटा दिए होते। क्या पता अनगिनत नीली स्याही लगी उँगलियों को देखकर कोई विकास पुरुष कहता हो-”तुम मुझे […]

Full Story »
बयानों के दूसरे पहलू

बयानों के दूसरे पहलू

आज की राजनीति में बयानों का बहुत महत्व है। बल्कि बयानों का ही महत्व है। बिना राजनीति के बयानबाजी तो हो सकती है लेकिन बिना बयानबाजी के राजनीति करना बिना काले धन के चुनाव जीतना जैसा असम्भव सा काम है। बयानों के महत्व के चलते ही राजनीतिक पार्टियों ने अपने को सिर्फ़ बयानबाजी तक सीमित […]

Full Story »
कन्ज्यूमर फ़ोरम में भगवान

कन्ज्यूमर फ़ोरम में भगवान

आज चुनाव शुरु हो रहे हैं। महीनों के हल्ले के बाद आज बटन दबना शुरू होगा। चुनाव प्रचार के दौरान बडी बमचक मची रही। एक से एक खलीफ़ा, माफ़िया, दागी, बागी चुनाव में खड़े हुये हैं। गुंडे, मवाली विनम्रता की मूर्ति बने याचक सरीखे निरीह जनता से वोट मांग रहे हैं। जनता उनकी विनम्रता और […]

Full Story »
यदि होता चिरकुट नरेश मैं

यदि होता चिरकुट नरेश मैं

यदि होता चिरकुट नरेश मै, इस चुनाव में लड़ता, कारपोरेट का जहाज होता, उड़ता-इतराता फ़िरता। चमचे जन गुण गाते रहते,सोशल मीडिया पर मेरे, प्रतिदिन चैनल चर्चा होती, सन्ध्या और सबेरे। मेरे संग ठहलते गुंडे, धनी जन फ़ोनियाते हर पल, हर सर्वे में आगे दिखते, कुर्सी नियराती प्रतिक्षण। यदि होता चिरकुट नरेश मैं, कपड़े रोज बदलकर, […]

Full Story »
नेहरू एडविना संबंध- एक महान प्रेम प्रकरण या चलते किस्म की चीज

नेहरू एडविना संबंध- एक महान प्रेम प्रकरण या चलते किस्म की चीज

सोशल मीडिया पर यदा-कदा भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की बुराई करने वाले उनकी नीतियों और निर्णयों के अलावा उनके व्यक्तिगत जीवन से जुड़ी बातों की चर्चा करके उनकी आलोचना करते हैं। ऐसा ही एक चर्चित विषय है नेहरू-एडविना प्रेम संबंध। नेहरू-एडविना के संबंधों को लेकर अनेक किताबें लिखी गयीं हैं। परसाई जी […]

कल मैंने मन के कुछ कोने देखे

कल मैंने मन के कुछ कोने देखे

कल मैंने मन के कुछ कोने देखे। कल मैंने मन के कुछ कोने देखे, कुछ झिलमिल रंग सलोने देखे। चोट लगी मन की देहरी पर, अनगिन नेह-दिढौने देखे। कल मैंने मन के कुछ कोने देखे। इस आपाधापी के जीवन में कुछ पल ठिठके,ठहरे देखे। धूसर मटमैली दुनिया के, कुछ मनसुख रंग सुनहरे देखे। कल मैंने […]

देवलोक में अवतार चर्चा

देवलोक में अवतार चर्चा

देवलोक में अगले अवतार की चर्चा हो रही है। किस देवता को अगले अवतार के रूप में भारत भूमि में भेजा जाये। रोज-रोज भारत भूमि से पुकार आ रही हैं। भक्त परेशान हैं। भगवान से कातर शिकायत कर रहे हैं। कब आयेंगे हमारा उद्धार करने। कुछ शिकायतें तो इत्ती तीखी थीं कि कुछ भगवानों को […]

Plugin from the creators ofBrindes :: More at PlulzWordpress Plugins